Blog Post Me Meta Description Kaise Likhen1

Blog Post me Meta Description Kaise Likhen ? Best SEO Tips

Meta Description Kya Hai ? कैसे लिखें ?

आज हम जानेंगें कि – Meta Description Kya Hai ? यह क्यों Important है ? SEO के लिए Blog Post me Meta Description Kaise Likhen ? पूरी जानकारी हिंदी में।

जब हम कोई Blog या Website बनातें हैं। तो हमारी हमेंशा यह कोशिश रहती है कि, हमारे Blog में लिखे गए Post या Page Search Engine पर आयें। इसके लिए, हम अपने Blog को Google Search Console पर Verify करके, उसमे Sitemap Submit करतें हैं। साथ ही Web Crawling, Search Indexing, और Search Engine Ranking की सही प्रक्रिया करने के बाद, हमारे Content SERP पर दिखाई देतें हैं। आज हम जानेंगें कि Meta Description Kya Hai ?

आपने Search Result Page पर देखा होगा कि, Search Result Page पर आपके Blog से सम्बंधित कई Elements दिखाई देतें हैं। उनमें से एक Meta Tag भी होता है। यह SEO के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है। पिछले Post में Heading Tags के विषय में हमने विस्तार से जाना। अब आइये जानतें हैं कि – Meta Description Kya Hai ?

Meta Description Kya Hai ?

Meta Description एक Code Snippet होता है। जो की Hyper Text Markup Language (HTML) पर लिखा गया होता है। जब कोई User, Search Engines जैसे Google, Bing आदि पर कोई Keyword Search करता है। तो Search Engine उस Keyword से सम्बंधित Best Ranking किये गए Post या Page को Result Page पर दिखता है।

Meta Description Kya Hai
Meta Description Kya Hai ?

दर्शाये गए Web Page की Title Tag के ठीक निचे, एक या दो वाक्यों का Content सारांश भी दिखाया जाता है। इस सारांश को Meta Description कहतें हैं। तथा जहाँ पर इस सारांश को लिखा जाता है, उसे Meta Tag कहतें हैं। Meta Description में 160 Characters तक लिखने की Limit होती है। किन्तु 50 – 155 Characters के बीच लिखना अच्छा माना जाता है। Meta Description Kya Hai ? जानने के बाद, आइये जानते हैं कि यह क्यों उपयोगी है ?

Meta Description क्यों Important है ?

Meta Description Attribute आपके पूरे Article का सारांश Text होता है। इसे पढ़कर Search करने वाले User’s को, आपके Article को पूरा पढ़ने से पूर्व ही, इसे समझने में मदत मिलती है। हालांकि, यह Search Engines पर Directly कोई प्रभाव नहीं डालता।

परन्तु इसको पढ़ने के बाद Search Users के, आपके Post पर Click करने की संभावना या CTR (Click Through Rate) बढ़ती है। और CTR का Search Engine Ranking पर सीधा असर पड़ता है। अतः हम कह सकतें हैं कि Meta Tag से Search Results पर फर्क पड़ सकता है।

Google Search में Meta Tag कैसे दर्शाया जाता है ?

SEO की मशहूर Website Moz के द्वारा किये गए एक Study में, 70,059 Websites के Meta Descriptions की जाँच में कुछ महत्वपूर्ण Facts निकल कर सामने आये। जैसे –

  • Google Search द्वारा कुल Websites 51.3 % में Meta Tag जैसे लिखे गए थे, ठीक वैसे ही प्रदर्शित किया गया।
  • Google Search द्वारा कुल Websites 15.4 % में Meta Tag जैसे लिखे गए थे, ठीक वैसे ही प्रदर्शित किया गया। साथ ही कुछ Text उसी Website के Content Area से लिया गया था। किन्तु यहाँ, लिए गए अतरिक्त Text को उसी क्रम में रखा गया।
  • जबकि, Google Search द्वारा कुल Websites 3.2 % में Meta Tag में दर्शाये गए Text को Content के अलग-अलग जगह से चुना गया था।

अतः निष्कर्ष के रूप में हम कह सकतें हैं कि, हमारे द्वारा लिखे गए Meta Description में Text को Google Search में दर्शाने की संभावना ठीक वैसे ही, जैसे की हमने लिखा था, लगभग 55% होती है। तथा शेष Text का चुनाव, वह हमारे ही Content से, अपने अनुसार Filter कर सकता है।

Meta Description में Text Add कैसे करें ?

Meta Description में Text Add करने के दो तरीके हैं –

1 – Coding Method : इस Method के द्वारा Section में लिखे जाने वाला Text को HTML Site में सीधे Type कर सकतें हैं। उदाहरण जैसे –

<head>
<meta name="description" content=" यहाँ पर अपना Meta Description Kya Hai या कोई भी अन्य Text के रुप में लिखा जाने वाला सारांश लिखें। ">
</head>

2 – Plugin Method : यदि आप WordPress CMS को प्रयोग करतें हैं। तो इसमें SEO के लिए कई WordPress Plugins उपलब्ध हैं। जैसे Rankmath, Yoast आदि। इनमे Meta Tag लिखना अत्यंत आसान है। यहाँ पर Meta Tag Box में आप Text सीधे Type कर सकतें हैं। Rankmath में Meta Description लिखने का उदाहरण निम्न है –

Blog Post me Meta Description Kaise Likhen2
Meta Description Kya Hai ?

Blog Post me Meta Description Kaise Likhen ?

सही Description लिखने से Click Through Rate (CTR ) बढ़ता है। जिससे SEO Ranking Improve होती है। आइये जानतें हैं की सही Meta Tag लिखते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

  • Character Length 120 – 155 रखें : हमारे पास Article के अंदर लिखने के कोई पाबंदी नहीं होती। किन्तु Description में ज्यादा Characters लिखने पर Google उसे Ignore कर ही देगा। अतः पूरे Article का सारांश बनाकर 120 – 155 Characters तक ही लिखें।
  • Focused Keywords का प्रयोग करें : हम अपने Article को SEO Friendly बनाने के लिए Focused Keywords का प्रयोग तो करतें ही हैं। उस Focused Keyword को Meta Tag के मध्य अवश्य प्रयोग करें। अतः जब कोई User Google पर उस Keyword को Search करेगा, तो Focused Keyword Bold Blue Color में दिखाई देगा। जिससे आपके Site के Click होने की संभावना बढ़ती है।
  • Description एवं Original Content सम्बंधित हो : Meta Tag में लिखा गया Content आपके Main Article से सम्बंधित होना चाहिए। जिससे यदि User, Click करके Main Content पढ़े, तो उसे निराश ना होना पड़े। साथ ही Content Match ना होने पर, कई बार Google की तरफ से Penalty भी लगाई जा सकती है।
  • Description को Copy ना करें : किसी अन्य Article का Meta Tag को भूल कर भी Copy ना करें। ऐसा करने पर आपके दोनों Articles की Ranking प्रभावित हो सकती है। अतः Original एवं Unique Content ही लिखें।
  • Rich Snippets का प्रयोग करें : Schema Markup का प्रयोग करके हम Snippets में Elements Add कर सकतें हैं। जैसे Customer Ratings, Star Ratings आदि। इससे आपके Meta Tag के Google Snippets में आने की संभावना बढ़ती है।
  • Natural Language का प्रयोग करें : माना की Content SEO Friendly होना चाहिए। किन्तु हमारे लिखने के शैली हमेशा पढ़ने वाले Users के हित को ध्यान में रखकर लिखी जानी चाहिए , ना की केवल SEO Bots के लिए। क्यूँकि Bots केवल एक बार Content पढ़तें हैं। जबकि यदि Content Valuable है, तो Users पुनः Revisit करेंगें।

संछिप्त निष्कर्ष :

उपरोक्त Post ” Meta Description Kya Hai? Blog Post me Meta Description Kaise Likhen ? ” में हमने जाना कि Meta Description Kya Hai ? यह क्यों Important है ? Google Search में Meta Tag कैसे दर्शाया जाता है ? Meta Tag में Text Add कैसे करें ? तथा Blog Post me Meta Description Kaise Likhen ?

Post ” Meta Description Kya Hai? Blog Post me Meta Description Kaise Likhen ? ” को चित्रों एवं बिंदुओं के माध्यम से समझाया है। किन्तु फिर भी यदि कहीं कोई Doubt हो तो Comment Box में अवश्य पूछें। Post को Social Media में Share करना न भूलें। धन्यवाद।

 <strong>लेखक</strong> : <strong>अखिलेश पयासी</strong>
लेखक : अखिलेश पयासी

मैं HindiStep.com का Founder और एक Professional Blogger हूँ। मैं आपके लिए Online Income से सम्बंधित जानकरियाँ इस ब्लॉग से नियमित Share करता हूँ।

  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top