Dofollow Link Aur Nofollow Link Kya Hai

Dofollow Link Aur Nofollow Link Kya Hai ? Best 1 Guide

DoFollow Link Aur NoFollow Link Kya Hai ? SEO में इनका क्या महत्व है ? क्या Difference है ? कहाँ Use करना चाहिए ? DoFollow Link vs NoFollow Link, Complete Guide Hindi में।

आज से लगभग 25 वर्ष पहले 1996 में, Google ने अपना पहला Algorithm “Page Rank ” बनाया था। यह किसी भी Website के Content को SERP में Search Ranking करने के लिए बनाई गयी थी। तब से लेकर आज तक, Google, User’s को Best Search Results देने के लिए, निरंतर प्रयास करता रहा है। और आगे भी करता रहेगा।

Google के Rigorous Testing में यह बात स्पष्ट बताई गयी है कि, अब तक Google ने SERP में उपयुक्त और उपयोगी Search Results देने के लिए, अपने Algorithms में 3620 बार सुधार किये हैं।

इतने परिवर्तन होने के बाद भी, Google ने Top Ranking Factors में Backlinks के Relationship का महत्व बनाये रखा है। जिसका, हम और आप लाभ ले सकतें हैं। SERP में Backlinks का लाभ लेने के लिए, हमें इसके प्रकार Dofollow Links एवं Nofollow Links को समझना होगा। आइये इनको Step by Step जानतें हैं।

Dofollow Link Kya Hai ?

जब हम, किसी Higher Authority Content को अपने Content पर Hyperlink द्वारा Inbound Link देते हैं, तो ऐसे Link को Dofollow Link कहतें हैं।

अपने Blog में, किसी अन्य Site का Dofollow Link देने से,आप Visitors को Indirectly यह Message देतें हैं कि, उस Site का Content, High Quality और Non-Spam है। तथा Search Engines के लिए Message होता है कि, वह Content पूरी तरह Organic एवं Non-Paid है।

Dofollow Link से, हमारे Content की SEO Value या Link Juice बढ़ती है। और जिससे, हमारे Content की Authority एवं Search Ranking दोनों Increase होती है।

Dofollow Link Kya Hai
Dofollow Link Kya Hai

अतः हमारे Site पर जितने ज्यादा High Quality Dofollow Links होते हैं। उतनी ज्यादा Site का SEO Boost होता है। हालांकि, कई SEO Experts और मेरा भी यही मानना है, कि Dofollow Link जैसा कुछ नहीं होता है।

यह वास्तव में, एक अवधारणा है। क्यूँकि, Dofollow पहले से ही, किसी Link का Default State है। या यूँ कहें कि – जो Link, Nofollow नहीं है, वो Dofollow है। ठीक उसी प्रकार जब प्रकाश नहीं है, तो अंधेरा है। जब्कि अंधेरा जैसा कुछ नहीं होता है। प्रकाश के ना होने को ही, अंधेरे का नाम दे दिया गया है।

जब आप, किसी Text पर HyperLink देंगें। वह खुद ब खुद, Dofollow ही रहेगी। इसके लिए आपको, अलग से कोई Coding करने की आवश्कता नहीं होती। जैसे –

Dofollow Link1
Example : Dofollow Link

Dofollow Link कहाँ प्रयोग करें ?

हमारे Original Content को Higher Search Ranking दिलाने में, Dofollow Links का Important Role है। अतः इसे समझदारी से प्रयोग करना चाहिए। जैसे –

  • High Quality External Links – यहाँ Dofollow Link सबसे ज्यादा प्रभावी मानी जाती है। क्यूँकि आप, अपने Content से Related किसी दूसरी Site के High Quality Content को Link करतें है। जिससे Search Engine को, आपके Content को समझने में मदत मिलती है, और आपके Content की SERP में Rank, Boost होती है।
  • Internal Links – हम अपने ही Blog के Post या Page को Dofollow Link दे सकतें हैं। इसमें भी Link Juice Pass होता है। किन्तु दोनों Content को, आपस में सम्बंधित या Relevant होने चाहिए।
  • Real Source Link : यदि आपने, अपने Content में किसी भी प्रकार की Analytical Information, Photo, Video, Definition आदि उपयोग किया है। तो उस Link के Source को देना हमेशा अच्छा माना जाता है। ऐसे Content को भी Dofollow Link में उपयोग करना चाहिए। जैसे – Wikipedia आदि।

Nofollow Link Kya Hai ?

NoFollow एक प्रकार का HTML Code है, जो rel=”nofollow ” Attribute के द्वारा प्रदर्शित किया जाता है। जैसे –

Nofollow Link1
Example : NoFollow Link

इसे किसी भी Default Link में प्रयोग करने से, Google या किसी अन्य Search Engine को यह Message जाता है कि, इस Link का प्रयोग केवल Human Readers के लिये है, तथा इसका प्रयोग SEO Value जैसे -Link Juice या Authority Pass करने के लिये ना किया जाये।

NoFollow Link1
NoFollow Link

अतः Webmasters के द्वारा Search Engine Bots को, ऐसे Links की Web Crawling या Search Indexing ना करने के लिए Instructions होते है।

Nofollow Link कहाँ प्रयोग करें ?

Google ने Nofollow Attribute की शुरुआत वर्ष 2005 में किया गया था। इसे प्रमुख रुप से Spam Comment को रोकने के लिए बनाया गया था। इसके अलावा, इसे और भी कई जगह इस्तेमाल करते हैं। जैसे –

  • Irrelevant Content : वैसे तो, Irrelevant Content का Link, देना ही नहीं चाहिए। परन्तु, यदि आवश्यक हो तो उसमें, NoFollow Link ही दें। यहाँ Irrelevant से आशय है, ऐसा Content जो आपके Content से सम्बंधित ना हो।
  • Sponsored या Paid Review Link : यदि आपको किसी Link को Use करने के लिए पैसे, Product या Service Offer हो रही हो। तो ऐसे में, उस Offer को NoFollow Link दें। अन्यथा, Google Penalize भी कर सकता है। हालांकि, Google ने वर्ष 2019 में ऐसी Links के लिए एक नया Attribute जारी किया है। वह है – rel=”sponsored ” आप चाहें तो इसे भी, ऐसी जगह Use कर सकतें हैं।
  • Admin Page : Admin Page पर हमारे Passwords, Address, emails, Access Authorization एवं अन्य Personal जानकारियाँ होतीं हैं। अतः Admin Page को भी NoFollow Link देना चाहिए।
  • NoIndex Links : कई बार हम कुछ Links को NoIndex तो करतें हैं, परन्तु NoFollow ना करने के कारण, Link Juice Pass होता रहता है। अतः NoIndex के साथ उस Link को, NoFollow भी करना चाहिए।
  • Affiliate Links : Affiliate Links भी Paid Links ही होते हैं। अतः यहाँ भी NoFollow Links ही Use करें। या rel=”sponsored ” भी Use कर सकतें हैं।
  • Comment or Forum : यदि आप Comment Section या किसी Forum में, किसी अन्य Site का Link Use कर रहें हैं, तो NoFollow ही Use करें। या फिर Google ने वर्ष 2019 में ऐसी Links के लिए एक नया Attribute जारी किया है। वह है – rel=”ugc” आप चाहें तो, ऐसी जगह, इसे भी Use कर सकतें हैं। यहाँ ugc का अर्थ है – User Generated Content.

क्या NoFollow Links का SEO में लाभ होता है ?

सामान्य तौर पर, NoFollow Links का SEO में कोई लाभ नहीं मिलता। क्योंकि इसमें Link Authority Pass नहीं होती है। परन्तु, Google ने इसमें भी, कुछ Websites के लिये कुछ अलग नियम बनाये हैं। ऐसी Websites को NoFollow Link देने के बाद भी, SEO Value या Link Juice Pass होता है।

Popular SEO Site, SearchEngineJournal.com के अनुसार No Follow Link पर भी, SEO Credit मिलता है। हालांकि वह Value, DoFollow Link की तुलना में फिर भी कम होती है। यह वो Websites होतीं हैं, जिनके Content Quality पर Google को पूरा Trust होता है, और Web Authority बहुत ज्यादा होती है। जैसे – Wikipedia आदि।

NoFollow Link Vs DoFollow Link का Status कैसे पता करें ?

सामान्य तौर पर, जब आप किसी Post या Article पर Visit करतें हैं, तो, वहाँ पर केवल Link Source दिखाई देता है। उस Link पर Click करने पर, Link की Website Open हो जाती है। किन्तु यह पता नहीं चलता की वह Link DoFollow है या NoFollow. लेकिन यदि आप चाहें, तो उस Link का Status आसानी से जान सकतें हैं। इसके लिए निम्न तरीके हो सकतें हैं। जैसे –

  • WordPress Plugins : WordPress CMS में इसके लिये ढेरों, Ready Made Plugins उपलब्ध हैं। फिर भी, कुछ अच्छे Plugins के लिए यह Article पढ़ें – 7 Best NoFollow WordPress Plugins.
  • Inspect Elements : जिस Link का Status जानना हो। उस पर Right Click करें। Popup Window के अंत में, Inspect Element Tab पर Click करते ही, Right Hand Side Window के Top पर, Link Status देख सकतें हैं।
  • View Page Source : आप किसी भी Web Page को Right Click करतें हैं, तो Pop Up Window पर View Page Source, Tab आता है। यहाँ पर Click करने से, New Window पर,उस Page की Coding दिखाई देती है। यहाँ Ctrl+F Keys press करने पर, Search Option आएगा। यहाँ “a href ” या जो भी Check करना हो Type करें। पूरे Page में जहाँ भी वह Tag Use किया होगा, Highlighted दिखाई देगा।
  • Chrome Extension : यदि आप Google Chrome Browser, Use करतें हैं ? तो, NoFollow Chrome Extension को Install करके भी, आप NoFollow Links को Check कर सकतें हैं।

संछिप्त निष्कर्ष :

उपरोक्त Post “Dofollow Link Aur Nofollow Link Kya Hai” में हमने जाना की – Dofollow Link Kya Hai ? DoFollow Links को प्रयोग करने के क्या लाभ हैं ? Dofollow Link कहाँ प्रयोग करें ?

Nofollow Link Kya Hai ? Nofollow Link का प्रयोग कहाँ करना चाहिए ? किन परिस्थितियों में NoFollow Links का SEO में लाभ होता है ? तथा NoFollow Link या DoFollow Link का Status कैसे पता करें ?

इस Post सरल शब्दों में समझाने का प्रयास किया गया है। परन्तु फिर भी यदि कोई Doubt हो तो Comment Box में जरूर पूछें। यदि, आपको यह Article पसंद हो तो, इसे Social Media में Share करना ना भूलें। धन्यवाद।

 <strong>लेखक</strong> : <strong>अखिलेश पयासी</strong>
लेखक : अखिलेश पयासी

मैं HindiStep.com का Founder और एक Professional Blogger हूँ। मैं आपके लिए Online Income से सम्बंधित जानकरियाँ इस ब्लॉग से नियमित Share करता हूँ।

  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top