Website Flipping Se Paise Kaise Kamaye1

Website Flipping se Paise Kaise Kamaye ? Best 1 Hindi Guide

आज हम जानेंगे – Website Flipping Kya Hai ? इसके क्या लाभ हैं ? इससे Income कैसे शुरु कर सकतें हैं ? Website Flipping Se Paise Kaise Kamaye ? Complete Guide, Step By Step Hindi में।

अपने ऐसे कई Business के विषय में सुना होगा जहाँ पुरानी चीजों को खरीद कर पुनः बेचा जाता है। Market में इसके बहुत से उदाहरण देखने को मिल जायेंगे। जैसे Automobiles, Electronics, Furniture’s आदि। ऐसे बिज़नेस में पुरानी चीजों को खरीदकर उसमें आवश्यक सुधार कर, आकर्षक बनाकर पुनः महगें दाम में बेचा दिया जाता है। Website Flipping का Business भी कुछ इसी प्रकार का होता है। बस अंतर इतना है कि, इसे पूरी तरह से Online किया जाता है। आईये जानतें हैं कि Website Flipping Kya Hai ?

Website Flipping Kya Hai ?

Website Flipping पूरी तरह Online Based Business है। इस Business को करने वाले लोग Website Flippers कहलाते हैं। जबकि Website बेंचने वाले Website Sellers और खरीदने वाले Website Buyers कहलातें हैं।

Website Flipping में पुरानी या Under Performing Websites को खरीदकर, उनमें आवश्यक सुधार या Value Up-gradation किया जाता है। तथा Updated Website को Directly या Broker Websites के माध्यम से, अधिक कीमत पर बेंच दिया जाता है।

आज Internet पर हज़ारों लोग समय या अनुभव की कमी के कारण अपने Niche से सम्बंधित, पहले से बनी हुई Websites को खरीदना चाहतें हैं। और यदि उनके मन मुताबिक Established Ready-made Website उपलब्ध मिलती है ? तो वह उसकी अच्छी कीमत भी आसानी से दे देतें हैं।

Website Flipping Business करने के क्या लाभ हैं ?

Business कोई भी हो, यदि सही तरीके और कड़ी मेहनत से किया जाये तो लाभ निश्चित होता है। Website Flipping भी Highly Profitable Business होता है। इस Business को करने के कई लाभ हैं। जैसे –

  • Complete Online Business : यह पूरी तरह से Online Based Business है। अतः इसे आप अपने घर से शुरु कर सकतें हैं।
  • Low Capital Requirement : आज की मँहगाई में छोटे से छोटा Business भी शुरु करने में लाखों रुपये की लागत होती है। वहीं Website Flipping के Business को, केवल कुछ हजार रुपये से शुरु किया जा सकता है। हालाँकि यह पुरानी Website पर आने वाले Visitors की संख्या एवं उसकी Age पर भी निर्भर करता है।
  • Profit Increases with Time : इस Business में Asset Value किसी Land या Housing Property की तरह कार्य करती है। अतः जितनी पुरानी Website होती है, उसके अनुरुप कीमत में Incremental Profit होने की संभावना होती है।
  • Gives Income before Sold : यदि अपने कोई Land खरीदा है ? और लाभ के लिए, जब आप उसे पुनः बेंचेंगे तो Profit होगा। परन्तु जब तक वह नहीं बिकेगी कोई लाभ नहीं होगा। जबकि, Website Flipping Business में आप किसी Website के बिक्री होने के पहले भी Avertiment Ads, Affiliate Marketing और अन्य कई तरीकों से निरंतर Profit कमा सकतें हैं।

Website Flipping se Paise Kaise Kamaye ?

Website Flipping का Business करके पैसे कमाने के लिए, हमें कई Steps से गुजरना पड़ता है। आइये प्रत्येक Step को विस्तार पूर्वक जानतें हैं।

Step 1 : Searching a Website

सबसे पहले आपको उस Potential Website को खोजना होगा, जो की आपको अच्छा Profit दिला पाये। एक अच्छी Website को खरीदने के पहले कई पहलुओं को बारीकी से अध्यन करना होता है। अतः किसी भी Website को खरीदने से पहले उसके निम्न Features को अवश्य जाँच लें। जैसे –

  • Content Quality : चाहे आप किसी Website से वर्तमान में Ads Network के द्वारा पैसे कमा रहें हों, या फिर भविष्य में उसे बेंचना चाहतें हों, दोनों ही स्थिति में उसका Content मायने रखता है। Website का Content Unique होना चाहिए। Duplicate Content वाली Website, Valuable नहीं मानी जातीं। और ऐसी Website से Profit नहीं कमाया जा सकता। कसी भी Website की Content Quality जानने के लिए Siteliner Tool का प्रयोग कर सकतें हैं।
  • Domain Extension : Buying Website का Domain Extension Popular होना चाहिए। इसके लिए Top Level Domain को चुने। जैसे .com., .net, .org, .in आदि।
  • Domain Age : नए Domain से Profit कमाने के लिए काफी इंतजार करना पड़ सकता है। अतः प्रयास करें की खरीदने वाली Website का Domain कम से कम 6 Month से 1 Year पुराना हो।
  • Website Niche : Website किस विषय पर है, यह भी महत्वपूर्ण है। क्यूँकि कुछ Niche पर CPC एवं CPM Rates बहुत कम होता है। ऐसे Niche की Website खरीदने से बचना चाहिए।
  • Content Management System : अन्य CMS के तुलना में WordPress CMS पर बनी हुई Websites की बिकने की संभावना अधिक रहतीं हैं। क्यूँकि WordPress पर उपलब्ध Plugins एवं Widgets की सहायता से Customization के ज्यादा Options हैं। अतः WordPress CMS ही चुनें।
  • Higher Organic Traffic : Organic Traffic को Search Traffic भी कहतें हैं। जिस Website में जितना ज्यादा Organic Traffic होगा, उतने ज्यादा Visitors भी होंगे। किन्तु Higher Organic Traffic वाली Websites महगीं मिलतीं हैं। लेकिन वे उसी अनुपात में मेहगीं बिकती भी हैं। Google Analytics Account से Organic Traffic Analyse किया जा सकता है।
  • Avoid Penalized Website : कई बार कुछ Websites या Blogs को Google के तरफ से किसी कारण से Penalty दी गयी होती हैं। ऐसे में उनकी Ranking suddenly Drop होतीं हैं। Website के Search Console Access से Penalty पता की जा सकती है। तथा ऐसी Website को खरीदने से बचना चाहिए।
  • Links Audit : Website की Ranking एवं Performance पर उस पर प्रयोग किये जाने Links का बहुत बड़ा Role है। जहाँ एक और Good Quality Backlinks, किसी भी Website को Google में Good Perform करतीं हैं, वहीँ Bad Backlinks Performance निचे लातीं हैं। अतः Website की Link Audit जरूर करना चाहिए। जिनमें कुछ चीजों को जाँचना आवश्यक है। जैसे – Referring Domain Links, Backlinks Quality, Broken Links, Anchor Texts, Re-directions आदि।

Step 2 : Buying a Website

कैसी Website खरीदना है, यह जानने के बाद बारी आती है Website खरीदने की। इंटरनेट पर कई Online Platform हैं, जहाँ ढेरों Website बिकने के लिए तैयार मिल जाएँगी। कुछ Popular Platform हैं – Flippa, Afternic, Empire Flippers, Freemarket, Website Broker आदि। Website Buying के दौरान कुछ Points को ध्यान देना चाहिए। जैसे –

Website Flipping Se Paise Kaise Kamaye3
  • Website Price : सामान्यतः देखा गया है कि किसी भी Website की कीमत उस पर होने वाली Monthly Earning का 20 से 30 गुना तक रखा जाता है। हालाँकि, यह खरीदी या बिक्री करने वाले Platform पर भी निर्भर करता है। उसमें भी, मध्यम Range 500 $ से 1500 $ तक की Website खरीदना उपयुक्त होता है। क्यूँकि Low Range की Website की Performance में कमी होती है। और अधिक Range की Websites को बिकने में समय लग सकता है।
  • Negotiation : कोई भी Seller हो, वह अपनी Website की कीमत तो ज्यादा बतायेगा ही। परन्तु आपको उसमें अधिक से अधिक Negotiation करना चाहिए। इसके लिए आप जितना अधिक अन्य बिक्री के लिए उपलब्ध Websites और उनके Features से, इस ख़रीदे जाने वाली Website की तुलना करेंगे, और उसे Seller से Discuss करेंगे, उतना अच्छा Price आपको मिल सकता है।
  • Website Ownership Transfer : Website Purchase Deal Final होने के बाद, Seller के साथ Contract Sign होता है। जिसमे कुछ Points को Consider करना चाहिए। जैसे Domain Registration Transfer, Business Profile Updation, Plugins एवं अन्य Softwares से सम्बंधित Subscriptions आदि।

Step 3 : Improve Website Value

अभी तक यह Website किसी अन्य Owner की थी। लेकिन अब यह आपकी हो चुकी है। अतः इससे Profit कमाने के लिए इसकी Value को बढ़ाना पड़ेगा। इसके लिए हमें कई Points को Focus करना चाहिए। जैसे –

  • Keyword Mapping : हो सकता है कि आपकी Website का पुराना Seller, Visitors आने के बाद भी इससे ज्यादा कमाई इसलिए ना की हो, क्यूँकि उसने सही तरीके से Keywords की Mapping नहीं की थी। हम किसी भी Niche पर Low Competition वाले Highly Profitable Keywords Search कर सकतें हैं। और यदि ऐसे Keywords को Focus करके वही Article लिखें जायें तो, Search में Visitors की संख्या में तेजी से बढ़ोत्तरी होती है। इसके लिए Free और Premium कई Tools उपलब्ध हैं। जैसे Google Trends, Google Search Console, Google Analytics, Semrush आदि।
  • SEO Improvement : SEO का अर्थ तो हम सब जानतें ही हैं। Website पर हम इस पर जितने अच्छे से Focus करेंगे। SERP में उतनी अच्छा Ranking मिलेगी। सही SEO करने के लिए, हमें इसके कई Sub Factors को ध्यान देना चाहिए। जैसे – Onpage SEO, Offpage SEO, Internal & External Links Building आदि।
  • Website Performance : बेहतर Perform करने वाली Website की कीमत भी बेहतर मिलती है। साथ ही इसका असर SEO एवं Visitors पर भी पड़ता है। अतः हमें अपनी Website में Best Performing Features Add करने चाहिए। जैसे – Fast Loading Speed, Redirection Handling (301, 404) आदि।
  • Increase Content Size : हो सकता है कि आपकी ख़रीदे गए Website में Sufficient Posts एवं Pages ना हो। ऐसे में New Posts / Pages लिखें और इनकी संख्या बढ़ायें। ध्यान रखें जितने ज्यादा Content Size होगा, उसी के अनुरूप Visitors की संख्या भी बढ़ेगी।
  • Monetize through Different Channels : सामान्यतः अधिकतर Websites पर केवल Google Adsense से Monetize किया हुआ होता है। ऐसे में आप कई अन्य Methods को साथ में प्रयोग करके Website की Earning बढ़ा सकतें हैं। जैसे Affiliate Marketing, Online Courses, eBooks Selling आदि तो Website पर लगा कर Profit बढ़ाया जा सकता है।

Step 4 : Website Selling

अंत में Selling Step आता है। यह सबसे महत्वपूर्ण Step होता है। क्यूँकि इसी Step के द्वारा आपको Return of Investment मिलता है। आप अपनी Website को किसी Broker या विभिन्न Online Platform के माध्यम से बेंच सकतें हैं। जैसे – Flippa, Afternic, Empire Flippers, Freemarket, Website Broker आदि।

Website Flipping Se Paise Kaise Kamaye2

अन्य Business की तरह इस Business में भी Risk Involved है। लेकिन यदि आप इसके सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर कड़ी मेहनत करें, तो Website Flipping Business में आप अच्छी Income कमा सकतें हैं।

संछिप्त निष्कर्ष :

उपरोक्त Post ” Website Flipping se Paise Kaise Kamaye ? ” में हमने जाना कि Website Flipping Kya Hai ? तथा Website Flipping se Paise Kaise Kamaye ? में Website Flipping करने के सम्पूर्ण Steps जैसे – Step 1 : Searching a Website, Step 2 : Buying a Website, Step 3 : Improve Website Value, Step 4 : Website Selling.

इस Article को बिंदुओं के माध्यम से समझाया गया है। फिर भी कोई Doubt हो तो Comment Box में पूछें। यदि यह Article आपको अच्छा लगा तो इसे Social Media में Share करें। धन्यवाद।

 <strong>लेखक</strong> : <strong>अखिलेश पयासी</strong>
लेखक : अखिलेश पयासी

मैं HindiStep.com का Founder और एक Professional Blogger हूँ। मैं आपके लिए Online Income से सम्बंधित जानकरियाँ इस ब्लॉग से नियमित Share करता हूँ।

आपको यह भी पढ़ना चाहिए।

Sponsored Post लिखकर पैसे कैसे कमाये ?

Online Survey से पैसे कैसे कमाये ?

Online Teaching Job से पैसे कैसे कमाये ?

  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top